मुख्य पृष्ठ ~ हमारे बारे में ~ रसायन विज्ञान ~ संसाधन ~ डाउनलोड ~ अस्वीकरण ~ संपर्क ~ अद्यतन ~ शब्दावली

बृहदणु

Macromolecule ‘बहुलकPolymer’ ;पाॅलिमर शब्द की उत्पत्ति दो ग्रीक शब्दों ‘पाॅली’ अर्थात् अनेक और ‘मर’ अर्थात् इकाई अथवा भाग से हुई है। बहुलकों वे बहुत बृहत् अणुMolecule की तरह परिभाषित किया जा सकता है जिनका द्रव्यमान अतिउच्च (10 -3 -10-7 u)होता है, इन्हें बृहदणुMacromolecule भी कहा जाता है, जो. कि पुनरावृत्त संरचनात्मक इकाइयों के बृहत पैमाने पर जुड़ने से बनते. हैं। पुनरावृत्त संरचनात्मक इकाइयाँ कुछ सरल और क्रियाशील अणुओं से. प्राप्त होती हैं जो एकलकMonomer कहलाती हैं। यह इकाइयाँ एक-दूसरे के साथ सहसंयोजक बंधBondों द्वारा जुड़ी होती हैं। बहुलकों वे संबंधित एकलकों से विरचन वेफ प्रक्रम को बहुलकन कहते हैं | एकलक एक सरल अणु है जो बहुलकीकृत होने में सक्षम है और इससे संगत बहुलक बनता है | संश्लिष्ट बहुलक मानव निर्मित उच्च आण्विक द्रव्यमान वाले बृहदणु हैं। कोशिकाओं के नाभिकों में उपस्थित जैव बृहदणु (biological macromolecules) होते हैं जिन्हें न्यूक्लीक अम्ल (nucleic acid) कहते हैं।


Copyright © 2007 - 2019 सर्वाधिकार सुरक्षित. Dr. K. Singh | Organic Synthesis Insight.